BPSC PCS Syllabus | बीपीएससी पीसीएस सिलेबस (प्रीलिम्स और मेन्स) पीडीएफ

BPSC PCS Syllabus in Hindi – संयुक्त राज्य / अपर अधीनस्थ सेवा (पीसीएस) विस्तृत सिलेबस

प्रिय उम्मीदवारों इस लेख में हमने BPSC PCS प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा का विस्तृत पाठ्यक्रम अपडेटेड परीक्षा पैटर्न के साथ प्रदान किया है।

BPSC Syllabus in Hindi पीडीएफ डाउनलोड लिंक इस लेख में नीचे दिया गया है।

यदि आप भी बीपीएससी की आगामी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं और अभी तक आपको BPSC पीसीएस पाठ्यक्रम की पूरी जानकारी नहीं है, तो हमारा सुझाव है कि आप इस लेख को पूरा पढ़ें।

दोस्तों, आप जानते हैं कि आजकल प्रतियोगी परीक्षाएँ कठिन होती जा रही हैं, और BPSC PCS जैसी परीक्षा को पास करना कोई आसान काम नहीं है।

लेकिन अगर आप सही दिशा में कड़ी मेहनत करते हैं तो आप इस परीक्षा को पास कर सकते हैं।

अभ्यर्थियों, किसी भी परीक्षा में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए हमारा पहला कदम होना चाहिए की हम परीक्षा के पैटर्न को अच्छी तरह से समझे, परीक्षा के पाठ्यक्रम को अच्छी तरह से जाने, और फिर एक संगठित अध्ययन योजना के साथ उसका पालन करना है।

इसीलिए यहां हमने आपके आसान संदर्भ के लिए इस पृष्ठ पर BPSC PCS प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा का विस्तृत पाठ्यक्रम अपडेटेड परीक्षा पैटर्न के साथ साझा किया है।

आप यहां से BPSC PCS (प्रीलिम्स एंड मेन्स) परीक्षा पाठ्यक्रम पीडीएफ भी डाउनलोड कर सकते हैं और BPSC पीसीएस 2022 लिखित परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए अपनी तैयारी की रणनीति को और मजबूत कर सकते हैं।

प्रिय उम्मीदवारों यह पोस्ट थोड़ी लंबी होने वाली है क्योंकि हम आपको BPSC PCS परीक्षा के सभी अनुभागों का विस्तृत पाठ्यक्रम प्रदान कर रहे हैं, लेकिन आप अपनी रुचि के अनुभाग में जा सकते हैं।

आपके आसान संदर्भ के लिए, हम इस पोस्ट में महत्वपूर्ण सामग्री की तालिका प्रदान कर रहे हैं।

BPSC PCS Selection Process

BPSC PCS परीक्षा के सभी चरणों की गहन समझ BPSC प्रोविंशियल सिविल सेवा परीक्षा को पास करने की राह पर एक अत्यंत महत्वपूर्ण मील का पत्थर है।

बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) राज्य प्रशासनिक सेवाओं में विभिन्न रिक्तियों को भरने के लिए प्रोविंशियल सिविल सेवा (पीसीएस) की ऑनलाइन परीक्षा आयोजित करता है।

हर साल लाखों उम्मीदवार BPSC पीसीएस परीक्षा के लिए उपस्थित होते हैं, इसलिए परीक्षा का कठिनाई स्तर काफी कठिन है और इसलिए, आवेदकों को परीक्षा की तैयारी के लिए अपना 100% देना होगा।

BPSC PCS परीक्षा में तीन प्रमुख चरण शामिल हैं:

  • प्रारंभिक परीक्षा [वस्तुनिष्ठ प्रकार और बहुविकल्पी]
  • मुख्य परीक्षा [पारंपरिक प्रकार, लिखित परीक्षा]
  • साक्षात्कार [व्यक्तित्व परीक्षण]

BPSC PCS Exam Pattern

सबसे पहले, आपको बीपीएससी पीसीएस परीक्षा के पैटर्न और अंकन योजना के बारे में पता होना चाहिए जैसा कि पहले कहा गया है कि बीपीएससी पीसीएस परीक्षा तीन चरणों में आयोजित की जाती है, अर्थात् प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा और व्यक्तिगत साक्षात्कार।

अब, आइए एक-एक कर के देखें कि प्रीलिम्स, मेन्स और इंटरव्यू का परीक्षा पैटर्न क्रमशः क्या है।

BPSC PCS Prelims Exam Pattern

प्रारंभिक परीक्षा तीन चरणों की चयन प्रक्रिया का पहला दौर है। बीपीएससी द्वारा प्रारंभिक परीक्षा मुख्य परीक्षा के लिए सीमित उम्मीदवारों को शॉर्टलिस्ट करने के लिए आयोजित की जाती है। इस चरण में अर्हता प्राप्त करने वाले उम्मीदवारों को ही अगले चरण (मुख्य परीक्षा) के लिए शॉर्टलिस्ट किया जाएगा।

BPSC PCS की प्रारंभिक परीक्षा में सामान्य अध्ययन का 150 अंकों के लिए 1 वस्तुनिष्ठ प्रकार का पेपर होता है।

#नोट: महत्वपूर्ण बिंदु

  • BPSC Prelims 150 अंको का एक बहुविकल्पीय प्रकार का पेपर होता है
  • बीपीएससी प्रारंभिक परीक्षा दो घंटे (120 मिनट) की अवधि का होता है।
  • इस परीक्षा मे नकारात्मक अंकन का प्रावधान नहीं है।
  • यह चरण क्वालीफाइंग प्रकार का होगा। बीपीएससी प्री की परीक्षा पास करने के बाद उम्मीदवार मेन्स की परीक्षा के लिए योग्य माने जाएंगे।

#नोट: प्रारंभिक परीक्षा मुख्य परीक्षा के लिए सीमित उम्मीदवारों को शॉर्टलिस्ट करने के लिए आयोजित की जाती है। प्रारंभिक परीक्षा में प्राप्त अंकों को अंतिम परिणाम (मेरिट सूची) में शामिल नहीं किया जाएगा।

BPSC PCS Mains Exam Pattern

मेन्स परीक्षा सिविल सेवा परीक्षा के दूसरे चरण का गठन करती है। प्रारंभिक परीक्षा में सफलतापूर्वक उत्तीर्ण होने के बाद ही उम्मीदवारों को बीपीएससी पीसीएस मेन्स लिखने की अनुमति दी जाएगी।

बीपीएससी मेन्स परीक्षा में वर्णनात्मक प्रकार के 4 पेपर होते हैं।

आइये अब हम विस्तृत BPSC PCS Mains परीक्षा पैटर्न पर एक नज़र डालते हैं।

S No Subject Marks Duration
Paper 1 (Qualifying) सामान्य हिंदी 100 3 घण्टे
Paper 2 सामान्य अध्ययन I 300 3 घण्टे
Paper 3 सामान्य अध्ययन II 300 3 घण्टे
Paper 4 वैकल्पिक विषय I 300 3 घण्टे

#नोट: महत्वपूर्ण बिंदु

  • मुख्य प्रत्येक पेपर के लिए परीक्षा की अवधि 3 घंटे होगी। बीपीएससी मेन्स परीक्षा कुल 1000 अंकों की होगी।
  • सामान्य हिंदी एक क्वालीफाइंग पेपर है इसको बस पास करना है। सामान्य हिंदी विषय के 100 अंक में से कम से कम 30 अंक लाने अनिवार्य है। फाइनल मेरिट में हिंदी विषय के नंबर को नही जोड़ा जाएगा
  • अर्थात मेंस के केवल 3 विषयों के अंक (900 अंक) ही फाइनल मेरिट मेरिट में जुड़ेंगे।
  • उम्मीदवारों को पेपर IV के लिए वैकल्पिक विषय के रूप में नीचे दी गई तालिका में से किसी एक विषय का चयन करना होता है।

बीपीएससी पीसीएस मेन्स वैकल्पिक विषयों की सूची

एक उम्मीदवार को नीचे दिए गए विषयों में से केवल एक वैकल्पिक विषय रखने की अनुमति है:

  1. हिन्दी भाषा और साहित्य
  2. अंग्रेजी भाषा और साहित्य
  3. उर्दू भाषा और साहित्य
  4. बांग्ला भाषा और साहित्य
  5. संस्कृत भाषा और साहित्य
  6. अरबी भाषा और साहित्य
  7. फारसी भाषा और साहित्य
  8. पाली भाषा और साहित्य
  9. मैथिली भाषा और साहित्य
  10. कृषि
  11. पशुपालन तथा पशु चिकित्सा विज्ञान
  12. मानव विज्ञान
  13. वनस्पति विज्ञान
  14. रसायन विज्ञान
  15. सिविल इंजीनियरिंग
  16. वाणिज्यिक शास्त्र तथा लेखा विधि
  17. कानून
  18. समाजशास्त्र
  19. इतिहास
  20. गणित
  21. मैकेनिकल इंजीनियरिंग
  22. दर्शनशास्त्र
  23. भौतिकी
  24. प्रबन्धन
  25. अर्थशास्त्र
  26. विद्युत् इंजीनियरिंग
  27. भूगोल
  28. भू-विज्ञान
  29. श्रम एवम् समाज कल्याण
  30. राजनीति विज्ञान तथा अन्तर्राष्ट्रीय संबंध
  31. मनोविज्ञान
  32. लोक प्रशासन
  33. सांख्यिकी
  34. जंतु विज्ञान

BPSC PCS Interview Pattern

BPSC PCS परीक्षा के अंतिम चरण यानी साक्षात्कार खंड का 120 अंकों का वेटेज है।

उम्मीदवार का साक्षात्कार एक बोर्ड द्वारा होगा जिसके सामने उम्मीदवार के परिचयवृत का अभिलेख होगा।

यह साक्षात्कार इस उद्देश्य से होगा कि सक्षम और निष्पक्ष प्रेक्षकों का बोर्ड यह जान सके कि उम्मीदवार लोक सेवा के लिए व्यक्तित्व की दृष्टि से उपयुक्त है या नहीं।

यह परीक्षा उम्मीदवार की मानसिक सतर्कता, आलोचनात्मक ग्रहण शक्ति, स्पष्ट और तर्क संगत प्रतिपादन की शक्ति, संतुलित निर्णय की शक्ति, रुचि की विविधता और गहराई नेतृत्व और सामाजिक संगठन की योग्यता, बौद्धिक और नैतिक ईमानदारी को जांचने के अभिप्रायः से की जाती है।

फाइनल मेरिट कुल 1020 अंक (900 मुख्य परीक्षा के अंक और साक्षात्कार के लिए 120 अंक) के आधार पर तैयार की जाती है।

BPSC PCS IAS Detailed Syllabus 

इस खंड में, उम्मीदवार BPSC PCS (प्रीलिम्स एंड मेन्स) लिखित परीक्षा के लिए विस्तृत पाठ्यक्रम की जांच कर सकते हैं।

जैसा कि हमने पहले बताया है BPSC PCS परीक्षा में प्रमुख रूप से तीन चरण शामिल हैं: (i) प्रारंभिक परीक्षा, (ii) मुख्य परीक्षा, (iii) साक्षात्कार।

हम उम्मीदवारों को BPSC PCS (Prelims & Mains) परीक्षा में उल्लिखित केवल इन पांच विषयों पर ध्यान केंद्रित करने और जितना हो सके अभ्यास करने का सुझाव देते हैं, जैसा कि परीक्षा में पूछे गए सभी प्रश्न BPSC PCS के आधिकारिक पाठ्यक्रम में दिए गए विषयों पर ही आधारित होते हैं।

आप लेख के इस खंड में विस्तृत BPSC Prelims & Mains Syllabus की जांच कर सकते हैं और दिए गए लिंक से पीडीएफ डाउनलोड कर सकते हैं।

BPSC PCS Prelims Exam Syllabus

सामान्य अध्ययन ( 150 अंक) अवधि : दो घंटे

करेंट अफेयर्स

– राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्व की सामयिक घटनाएं। 

इतिहास

– भारत का इतिहास और बिहार के इतिहास की महत्वपूर्ण विशेषताएं

– इतिहास में सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक आयामों में विषय के व्यापक समग्र ज्ञान पर जोर दिया गया है। आवेदकों को भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन और इसमें बिहार की भूमिका सहित बिहार के इतिहास के व्यापक तत्वों से परिचित होना चाहये।

– भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन पर प्रश्न उन्नीसवीं सदी के पुनरुत्थान की प्रकृति और चरित्र से संबंधित, राष्ट्रवाद की वृद्धि और स्वतंत्रता की प्राप्ति और उम्मीदवारों से भारत के स्वतंत्रता आंदोलन में बिहार की भूमिका पर सवालों पूछे जा सकते है।

सामान्य मानसिक क्षमता प्रश्न

– अंकगणितीय योग्‍यता, रीज़निंग योग्‍यता और आंकड़ों का विश्‍लेषण आदि।

सामान्य विज्ञान

– सामान्य विज्ञान के मुद्दों में विज्ञान की एक सामान्य समझ शामिल होगी, जिसमें रोजमर्रा के अवलोकन और अनुभव के मुद्दे शामिल होंगे, जैसा कि एक शिक्षित व्यक्ति से अनुमान लगाया जा सकता है जिसने किसी भी वैज्ञानिक अनुशासन का अनूठा अध्ययन नहीं किया है।

भूगोल

– भारत का सामान्य भूगोल और बिहार का भौगोलिक विभाजन और इसकी प्रमुख नदी प्रणालियाँ।

– भूगोल में भारत और बिहार के भूगोल पर फोकस रहेगा।

– भारत और बिहार के भूगोल पर प्रश्न भारतीय कृषि और प्राकृतिक संसाधनों की प्राथमिक विशेषताओं सहित देश के भौतिक, सामाजिक और आर्थिक भूगोल से संबंधित रहेंगे ।

भारतीय अर्थव्यवस्था और भारतीय राजनीति

– स्वतंत्रता के बाद की अवधि में भारतीय अर्थव्यवस्था और भारतीय राजनीति और बिहार की अर्थव्यवस्था में बड़े बदलाव।

– भारतीय अर्थव्यवस्था और भारतीय राजनीति के प्रश्न भारत और बिहार में देश की राजनीतिक व्यवस्था, पंचायती राज, सामुदायिक विकास और योजना

BPSC PCS Mains Exam Syllabus

प्रश्न पत्र I ( 100 अंक) अवधि : तीन घंटे

सामान्य हिन्दी

इस पत्र में प्रश्न बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के माध्यमिक (सेकेण्डरी) स्तर के होंगे। इस परीक्षा में सरल हिन्दी में अपने भावों को स्पष्टतः एवं शुद्ध शुद्ध रूप में व्यक्त करने की क्षमता और सहज बोध शक्ति की जाँच समझी जायेगी।

अंकों का विवरण निम्न प्रकार होगा:

  • निबन्ध- 30 अंक
  • व्याकरण- 30 अंक
  • वाक्य विन्यास- 25 अंक
  • संक्षेपण- 15 अंक
प्रश्न पत्र II ( 300 अंक) अवधि : तीन घंटे

सामान्य अध्ययन पत्र 1

– भारत का आधुनिक इतिहास और भारतीय संस्कृति ।

– राष्ट्रीय तथा अन्तर्राष्ट्रीय महत्व का वर्तमान घटना चक्र

– सांख्यिकी विश्लेषण आरेखन और चित्रण।

सामान्य अध्ययन पत्र- 1 में आधुनिक भारत (तथा बिहार के विशेष सन्दर्भ में) के इतिहास और भारतीय संस्कृति के अन्तर्गत लगभग उन्नीसवीं शताब्दी के मध्य भाग से लेकर देश के इतिहास की रूप रेखा के साथ-साथ गाँधी, रवीन्द्र और नेहरू से संबंधित प्रश्न भी सम्मिलित होंगे बिहार के आधुनिक इतिहास के संदर्भ में प्रश्न इस क्षेत्र में पाश्चात्य शिक्षा (प्रौद्योगिकी शिक्षा समेत) के आरम्भ और विकास से पूछे जाएंगे।

इसमें भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में बिहार की भूमिका से संबंधित प्रश्न रहेंगे। ये प्रश्न मुख्यतः संथाल विद्रोह, बिहार में 1857 विरसा का आन्दोलन, चम्पारण सत्याग्रह तथा 1942 का भारत छोड़ो आंदोलन से पूछे जाएँगे।

परीक्षार्थियों से आशा की जाती है कि वे मौर्य काल तथा पाल काल की कला और पटना कलम चित्रकला की मुख्य विशेषताओं से परिचित होंगे।

सांख्यिकीय विश्लेषण आरेखन और सचित्र निरूपण से संबंधित विषयों में सांख्यिकीय आरेखन या चित्रात्मक रूप से प्रस्तुत सामग्री की जानकारी के आधार पर सहज बुद्धि का प्रयोग करते हुए कुछ निष्कर्ष निकालना और उसमें पाई गई कमियों, सीमाओं और असंगतियों का निरूपण करने की क्षमता की परीक्षा होगी।

प्रश्न पत्र III ( 300 अंक) अवधि : तीन घंटे

सामान्य अध्ययन पत्र 2

– भारतीय राज्य व्यवस्था।

– भारतीय अर्थ व्यवस्था और भारत का भूगोल

– भारत के विकास में विज्ञान और प्रौद्योगिकी की भूमिका और प्रभाव।

पत्र- 2 में भारतीय राज्य व्यवस्था से संबंधित खंड में भारत की (तथा बिहार की राजनीतिक व्यवस्था से संबंधित प्रश्न होंगे।

भारतीय अर्थ व्यवस्था और भारत तथा बिहार के भूगोल से संबंधित खंड में भारत की योजना और भारत के भौतिक, आर्थिक और सामाजिक भूगोल से संबंधित प्रश्न पूछे जाएँगे

भारत के विकास में विज्ञान और प्रौद्योगिकी के महत्व और प्रभाव से संबंधित तीसरे खंड में ऐसे प्रश्न पूछे जाएँगे, जो भारत तथा बिहार में विज्ञान और प्रौद्योगिकी के महत्व के बारे में उम्मीदवार की जानकारी की परीक्षा करे। इनमें प्रायोगिक पक्ष पर बल दिया जाएगा।

BPSC PCS Syllabus PDF Download Link

(डाउनलोड) बीपीएससी परीक्षा पाठ्यक्रम हिंदी में | (Download) BPSC PCS Exam Syllabus in Hindi

BPSC PCS Frequently Asked Questions

BPSC में कितने विषय होते हैं?

बीपीएससी प्रारंभिक परीक्षा (Prelims) में सामान्य अध्ययन का एक पेपर तथा मुख्य परीक्षा (Mains) में कुल 4 पेपर होते हैं. जिसमें से 1 हिंदी भाषा का पेपर होता है, 2 सामान्य अध्ययन का तथा 1 ऑप्शनल सब्जेक्ट का होता है.

BPSC में कितने वैकल्पिक विषय होते हैं?

BPSC सिविल सर्विस एग्जाम में कुल 34 वैकल्पिक विषय होते हैं. उम्मीदवार को दिए गए विषयों में से केवल एक वैकल्पिक विषय रखने की अनुमति होती है

BPSC का इंटरव्यू कितने अंक का होता है?

BPSC PCS परीक्षा के अंतिम चरण यानी साक्षात्कार खंड का 120 अंकों का वेटेज है।

फाइनल मेरिट कितने अंकों पर तैयार की जाती है

This Post Has 2 Comments

Leave a Reply